-->

IPS Full Form In Hindi | IPS क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

IPS Officer पद को प्राप्त करने का अधिकतर भारतीय युवाओं का सपना होता है। IPS का फुल फॉर्म Indian police service होता है। आईपीएस का एग्जाम यूपीएससी कंडक

IPS क्या है?

IPS Officer पद को प्राप्त करने का अधिकतर भारतीय युवाओं का सपना होता है। IPS का फुल फॉर्म Indian police service होता है। आईपीएस का एग्जाम यूपीएससी कंडक्ट कराती है।

आईपीएस एक पद है इसलिए आईपीएस का एग्जाम कहना गलत होगा क्योंकि इसे यूपीएससी कंडक्ट कराती है कड़ी मेहनत और सही दिशा के साथ आईपीएस पद को प्राप्त किया जा सकता है।

प्रत्येक वर्ष इस पद को पाने में कड़ी मेहनत के बाद कई उम्मीदवार असफल हो जाते हैं क्योंकि वह सही पाठ्यक्रम को नहीं जानते कुछ कई बार शारीरिक मापदंड मैं अयोग्य होते हैं।

यदि आप आईएएस बनने के लिए सोच रहे हैं तो मैं इस आर्टिकल में आपको सही योग्यता शारीरिक मापदंड का पाठ्यक्रम बताने में सहायता करूंगा।

ips kaise bane


आईपीएस ऑफिसर कैसे बने?

आईपीएस ऑफिसर बनने का पूरा प्रोसेस स्टेप बाय स्टेप समझेंगे।
  1. एग्जाम फॉर्म कब भरे जाते हैं?
  2. क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए?
  3. एज क्राइटेरिया क्या है?
  4. शारीरिक मापदंड में क्या होगा?
  5. आप कितनी बार अटेम्प्ट कर सकते हैं?
  6. एग्जाम में कितने स्टेप होंगे?
  7. कट ऑफ कितना होगा?
  8. सैलरी कितनी मिलेगी?
  9. इसके लिए पढ़ाई कैसे की जाए?
अब तो आप समझ गए होंगे कि आईपीएस बनने के लिए यूपीएससी का एग्जाम ही देना होगा। आईपीएस ऑफिसर बनना आसान नहीं होता।

क्योंकि इसमें स्टेप बाय स्टेप कई परीक्षाओं को पास करना होता है जैसे प्रिलिमनरी, मेन एग्जाम,फिजिकल,इंटरव्यू,मेडिकल,डॉक्यूमेंटेशन इत्यादि जैसे एग्जाम में को पास करना होता है।

इन स्टेप के बाद ही आईपीएस ऑफिसर के पद को प्राप्त किया जा सकता है। यूपीएससी का एग्जाम प्रत्येक वर्ष लाखों उम्मीदवार देते हैं परंतु उनमें से कुछ ही उम्मीदवार इसे पास कर पाते हैं


एक जरूरी बात यह भी है यह जितने भी DGP,DIG,IG,DSP,SP,SSP,ASP होते हैं वे सभी आईपीएस ही होते हैं।

आईपीएस और आईएएस का एग्जाम लगभग सेम ही होता है सिर्फ आईपीएस के एग्जाम में एक एग्जाम और जुड़ जाता है जो फिजिकल का होता है।

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए एलिजिबिलिटी।

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए वही योग्यता की आवश्यकता होती है जो एक यूपीएससी के उम्मीदवारों को चाहिए होती है।

आवेदन प्रक्रिया?

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए प्रत्येक वर्ष यूपीएससी के फॉर्म निकलते हैं जिसको लास्ट डेट से पहले आवेदन करना होता है।
एज क्राइटेरिया?

इस पद को प्राप्त करने के लिए कैटेगरी के अनुसार आयु इस प्रकार होनी चाहिए।

SC/ST= 
21-37
OBC = 
21-35
General = 
21-32

यदि उम्मीदवार जम्मू या कश्मीर से हो तो जर्नल के लिए 21 से 37 साल है। यदि उम्मीदवार फिजिकल चैलेंज है तो उसके लिए भी 10 साल की छूट है और वह अधिकतम 42 साल तक फॉर्म भर सकते हैं।

यदि उम्मीदवार डिसेबल्ड और ब्लाइंड है डेफ है तो जर्नल के लिए अधिकतम 37 साल ओबीसी के लिए 38 साल और एसी/एसटी के लिए 40 साल तक अधिकतम आयु सीमा है यह आयु सीमा तैयारी करने वाले स्टूडेंट को पता होना चाहिए।

ऊंचाई?

पुरुषों के लिए न्यूनतम लंबाई 165 सेंटीमीटर और महिला उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम लंबाई 150 सेंटीमीटर है।

SC/ST Category वाले उम्मीदवारों के लिए पुरुष की न्यूनतम लंबाई 160 सेंटीमीटर है और महिला की न्यूनतम लंबाई 145 सेंटीमीटर है।

छाती?

पुरुषों के लिए छाती की माप न्यूनतम 84 सेंटीमीटर और महिलाओं के लिए यह माप 79 सेंटीमीटर है।
नेत्र दृष्टि?

यदि आंखें स्वस्थ है तो विजन 6/6 या 6/9आना चाहिए यदि आंखें स्वस्थ नहीं है मतलब वीक है तो रिजल्ट 6/12 अन्यथा 6/9होनी चाहिए।

प्रयास?

अगर अटेम्प्ट की बात करें तो जाति के हिसाब से इस प्रकार है।

Sc/St = 
आयु सीमा समाप्त होने तक अटेम्प्ट दे सकते हैं
Obc = 
9 अटेम्प्ट
General = 
6 अटेम्प्ट

नोट:- जम्मू और कश्मीर आयु सीमा तक।

चयन?

लगभग 1000000 उम्मीदवार आवेदन करते हैं। preliminary मैं लगभग 500000 उम्मीदवार बैठते हैं तथा मेंस में लगभग 15 हजार के करीब पहुंचते हैं 

इंटरव्यू तक जाते-जाते इनकी संख्या 2800 रह जाती है और लगभग 800 ही प्रत्येक वर्ष सेलेक्ट हो पाते हैं।

परीक्षा पैटर्न?

यूपीएससी एग्जाम मैं आवेदन के बाद पहले Preliminary एग्जाम देना होता है उसे क्वालीफाई करने के बाद फिर मेन एग्जाम होता है तथा उसके बाद इंटरव्यू होता

Preliminary Exam?

यह एग्जाम दो पेपरों का होता है दोनों पेपर 200- 200 नंबर के होते हैं पहला पेपर जनरल स्टडी और दूसरा पेपर सीसैट का होता है 

पहला पेपर 100 प्रश्नों का और दूसरा पेपर 80 प्रश्नों का होता है। एग्जाम को सुविधानुसार हिंदी भाषा या इंग्लिश भाषा दोनों में से किसी एक भाषा में दिया जा सकता है।

इस एग्जाम में फर्स्ट एग्जाम के नंबर ही मेरिट में जोड़ते हैं सेकंड एग्जाम क्वालीफाइंग है इसमें 200 मैं से 66 नंबर कम से कम लाने होते हैं इसके नंबर से मेरिट पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

Preliminary एग्जाम कट ऑफ?

वर्ष 2018 के अनुसार कट ऑफ

SC/ST= 
84
OBC = 96.66      
General = 98

मेन एग्जाम?

Preliminary एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद मेन एग्जाम में बैठ सकते हैं मेन एग्जाम में 9 परीक्षा होती हैं जिसमें से 7 परीक्षा के नंबर ही मेरिट लिस्ट में जुड़े ते हैं 2 पेपर क्वालीफाइंग होते हैं 

इसलिए 9 में से 7 परीक्षाएं इंपॉर्टेंट होती है दो पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है। यह टोटल 1750 नंबर का होता है।

मेन एग्जाम की कट ऑफ?

वर्ष 2018 के अनुसार

SC/ST = 
719
OBC = 
732
General = 
774

मेन एग्जाम की अंतिम कट ऑफ?

SC/ST = 912
OBC = 
938
General = 
983

वेतन?

डीजीपी को लगभग 1 लाख 82 हजार तथा एसएसपी को 130000 तथा डीआईजी को 145000 तथा एसपी को 78 हजार के करीब वेतन प्राप्त होता है परंतु इन आईपीएल स्कोर वेतन के अतिरिक्त अन्य प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराई जाती हैं।







Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD Techy Pranav Pranavkd PranavKD